26 January 2022 – Republic Day in Hindi | गणतंत्र दिवस क्यों मनाया जाता है

Republic Day
Republic Day 2022

Republic Day 2022: बहुत समय से हमारे देश में 26 January का पर्व बड़ी ही धूम धाम से मनाया जाता है, इसको गणतंत्र दिवस के नाम से भी जाना जाता है, इंग्लिश में इससे Republic Day कहते है. इसे पहली बार 26 January1950 में मनाया गया था. लोग इस दिन एक दुसरे को बधाई देते है और अपने घर पर गाड़िओ से अपने देश का तिरंगा लहराते है. इस दिन इस दिन भारत की राजधानी दिल्ली में इंडिया गेट पर परेड कराई जाती है जिसको लाखो की शंख्या में लोग देखने आते है |

Republic day क्यों मनाया जाता है | 26 January क्यों मनाया जाता है ?

26 January भारत के लोग बड़े ही हर्ष उल्लाश से मनाते है इसका एक ये भी कारण है की 26 January यानी Republic Day भारत का राष्ट्रय पर्व है, 26 जनुअरी 1950 के दिन भारत के लोगो के लिए जीने का अधिकार, बोलने का अधिकार, रोजकार, सुरक्षा, पढ़ने का अधिकार जैसे कई सारे कानून लोगो व जनता के हित में बनाये गए, आम भासा में बोले तो आज के दिन भारत का सबिधान लागू हुआ था.

26 January 1928 में भारत को पूर्ण गणराज्य बनाने का प्रस्ताव अंग्रेजी हुकूमत के सामने लाहौर में कांग्रेस ने रखा. पर उसको अंग्रेजी हुकूमत द्वारा स्वीकार नहीं किया गया और कांग्रेस के इस प्रस्ताव को ठुकरा दिया गया. तब कांग्रेस ने 26 जनवरी, 1930 को भारत को पूर्ण गणराज्य की घोषणा कर दी. इसके 16 साल बाद 9 दिसंबर, 1946 को भारतीय सविंधान को लिखने की शुरुआत हुई. भारत के सबिधान का निर्माण करने के लिए 22 समितियों का निर्माण किया गया जिनका कार्य सविधान का निर्माण करना व सविधान बनाना था. सविधान शबा द्वारा सबिधान का निर्माण करने के लिए 114 दिन की बैठक की गयी जिसमे 308 सदस्यो ने भाग लिया था |

उस बैठक में मुख्या सदस्य डॉ राजेंद्र प्रसाद, पंडित जवहरलाल नेहरू, डॉ भीमराव अंबेडकर, सरदार वल्लभ भाई पटेल, मौलाना अब्दुल कलाम आजाद आदि थे। इसके अलावा बैठक में आम जनता और press को भी शामिल किया गया. भारत के सविधान को बनने में कुल 2 साल 11 महीने और 18 दिन लग गए थे, और 26 जनुअरी 1950 को पुरे देश में सबिधान को लागू कर दिया गया. और उस दिन से 26 January ( Republic Day ) को गणतंत्र दिवस के रूप से मनाया जाता है.

Republic Day पर क्या क्या कार्येकर्म होते है ?

26 जनवरी को भारत के राष्ट्र पर्व के रूप में मनाया जाता है, इस दिन भारत के राष्ट्रपति इंडिया गेट पे ध्वजा आरोहण करते है साथ में 21 तोपों की सलामी थी जाती है. वह के सभी लोग दर्शक प्रधान मंत्री, राष्ट्रपति और बाकी सभी एक साथ मिलकर राष्ट्र गान गाते है. इंडिया गेट पर परेड की ट्राई की जाती है जिसमे अपने देश के (जल थल वायु ) सेना का एक अनोखा प्रदर्शन किया जाता है, और भारत के बहुत सारे देश और उनकी संस्कृति का भी एक अनोखा प्रदर्शन किया जाता है.

26 January का परेड | Republic Day परेड

26 January को भारत की राजधानी दिल्ली में इंडिया गेट पर बहुत शानदार परेड का निर्माण किया जाता है, जिसमे भारत देश के ( जल थल वायु ) सेना की सख्ती का एक अनोखा प्रदर्शन किया जाता है, इसमें भारत के गयी देशो की संस्कृति का भी प्रदर्शन किया जाता है, इसमें स्कूल के बचे भी बढ़ चढ़ के भाग लेते है और अपनी कला का प्रदर्शन करते है. 26 जनवरी के अवसर पर परेड में दुसरे देश से चीफ गेस्ट को भी आमंत्रित किया जाता है. और भारत के माननिये राष्ट्रपति को 21 तोपों की सलामी दी जाती है.

26 January का आरंभ

26 जनवरी ( Republic Day ) यानी गणतंत्र दिवस की का आरम्भ सुबह प्रधानमंत्री द्वारा शाहिद ज्योति के अभिवादन से सुरु होता है, प्रधानमंत्री सुबह सबसे पहले प्रज्वलित शहीद ज्योति का अभिवादन करके सम्पूर्ण राष्ट्र की और से सभी शाहिद जवानो को श्रद्धांजलि देते है. उसके बाद राष्ट्रपति भवन से राष्ट्रपति की सवारी विजय चौक की और निकलती है, और उनके साथ दुसरे देश के आमंत्रित मेहमान भी होते है. फिर तीनो सेनाओ के सेनाध्यक्ष राष्ट्रपति का सवागत करते है. फिर प्रधानमंत्री से मिलकर वो अपना स्थान ग्रहण करते है. और ध्वजा आरोहण और रस्त्र्य गान का समारोह किया जाता है. फिर परेड को सुरु किया जाता है.

26 January परेड की खाश बाते | संस्कृति की झलक

26 जनवरी की परेड की काश बात ये है की इसमें सभी जाती धर्म को सम्मान किया जाता है, और भारत के सभी देशो व लोगो के बीच में भाईचारे का प्रदर्शन जॉकियों के रूप में किया जाता है. सभी देख की संस्कृति के बारे में लोगो को झाकियों के रूप में बताया जाता है. और इस परेड में Motor-Cycle पर बहुत शानदार शानदार स्टंट किये जाते है, जो लोगो का मन मोह लेता है, आस्मान फाइटर प्लेन, जेट प्लेन की आवाज से काँप उठता है, जो की भारत की वायु सकती का प्रदर्शन करती है, राष्ट्रपति को 21 तोपों की सलामी दी जाती है.

Republic Day निस्कर्ष

26 जनवरी जैसा कार्येक्रम सायद ही किसी त्यौहार में देखने को मिलता है, इस दिन लोगो के दिल में भारत के प्रति और भी प्यार बढ़ जाता है. लोग दूर दूर ये ये Republic Day का कार्येकर्म देखने आते है. वो भी इतनी ठण्ड में, जैसा की आपको पता हे जनवरी के महीने म ठण्ड कितनी भर जाती है, फिर भी लोग दूर दूर से अलग अलग सहर से दिल्ली आते हे, केवल 26 January का ये कार्येकर्म देखने। जो भारत के प्रति लोगो का देशभक्ति दिखता है।

हमारी अन्य पोस्ट देखे :

Earn Money Online Without Investment

Top Business Ideas Without Investment

1. गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस में क्या अंतर है ?

Ans. गणतंत्र दिवस 26 जनवरी को मनाया जाता है इस दिन हमारे देश का सबिधान लागू हुआ था और स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त को मनाया जाता है इस दिन हमारा देश अंग्रेजो की गुलामी से आजाद हुआ था।

2. पहली बार गणतत्र दिवस कब मनाया गया था ?

Ans. पहली बार गणत्रता दिवस 26 जनवरी 1950 में मनाया गया था।

3. 26 जनवरी 2022 के मुख्य अतिथि कौन होंगे ?

Ans. N/a

4. 26 जनवरी को झंडा कौन फहराता है ?

Ans. भारत के राष्ट्रपति झंडा फहराते हैं।

5. 26 जनवरी और 15 अगस्त में क्या अंतर है ?

Ans. गणतंत्र दिवस 26 जनवरी को मनाया जाता है इस दिन हमारे देश का सबिधान लागू हुआ था और स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त को मनाया जाता है इस दिन हमारा देश अंग्रेजो की गुलामी से आजाद हुआ था।

2. 26 जनवरी 2022 में कौनसा गणतंत्र दिवस मनाया जाएगा ?

Ans. 26 जनवरी 2022 में 73वां गणत्रा दिवस मनाया जाएगा।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top